उद्देश्य

मध्य प्रदेश शासन द्वारा मध्य प्रदेश राज्य वरिष्ठ नागरिक कल्याण आयोग का गठन दिनाँक 05/02/2013 को किया गया है। आयोग का उद्देष्य वरिष्ठ जनों के समग्र कल्याण एवं उन्नयन हेतु समग्र पुर्नवास नीति का प्रारुप शासन को प्रस्तुत किया जाना है।

उक्त आयोग वरिष्ठ जनो को एक सम्मान पूर्ण जीवन, संरक्षण एवं समुचित देखभाल देने हेतु कटिबद्ध है। आयोग का यह दायित्व होगा कि वह वृद्धजनों को सहयोगात्मक वातावरण उपलब्ध कराए ताकि वे उद्देष्य पूर्ण जीवन शांति और सम्मान के साथ जी सकें। आयोग यह मानता है कि वरिष्ठ जनों को प्रदाय की जा रही वर्तमान सेवाओं का उन्नयन हो एवं वरिष्ठ जनो की उन की प्रादेषिक आवष्यकताओं के तहत नई सेवाओं की उपलब्धता प्रदान की जा सके। इस संबध में, समाज के सुधार हेतु वरिष्ठ नागरिकों की सक्षमता के आधार पर नई संभावना तलाशी जा सके।

आयोग इस दिशा में भी कार्य करेगा कि वरिष्ठ जनों के आर्थिक सुरक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक देखरेख, शारीरिक सुरक्षा एवं उनकी आवश्यकताओं के तहत सहायता एवं सहयोग प्रदान किया जाना संभव हो सके। आयोग की प्रस्तावित नीति में वरिष्ठ नागरिको के समग्र कल्याण हेतु वरिष्ठ नागरिको की सक्रिय सहभागिता भी सुनिष्चित की जाएगी।

आयोग वरिष्ठ नागरिक के कल्याण हेतु व्यापक एवं पर्याप्त वित्तीय प्रावधानो की संभावना को तलाषेगा। यह भी सुनिष्चित किया जाएगा कि चूंकि राज्य सरकार ही उक्त नीति के क्रियान्वयन हेतु अकेले ही उत्तरदायी नहीं परंतु इस हेतु समाज के विभिन्न परिवारो, कल्याणकारी संगठनों एवं अषासकीय संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा ताकि उक्त नीति के प्रभावी क्रियान्वयन हेत संतोषप्रद परिणाम प्राप्त हो सकें।